मौसम का आना,
मौसम का जाना.
फूलों का हसना,
तितली का उड़ना,

बादल का आना,
पानी बरसाना,
कभी भीगना-
कभी भिगाना,

खुशबु का आना,
प्यार फैलाना.
पल दो पल,
वो ख़ुशी सजाना,

यादों का आना,
आकर सताना,
कभी रुलाना,
कभी हसाना.

आंधी सा चलना,
तूफान से लड़ना,
पत्तों का हिलना,
डालों का झुकना,

वो कली का खिलना-
बच्चे का रोना,
वो प्यार संजोना,
वो प्यार को देना,

माँ से लड़ना,
पिता से डरना,
वो भाई-बहिन के-
प्यार में चिड़ना.
बस इन्ही से है मेरा याराना.
हाँ! इन्ही से है मेरा याराना.

Advertisements